Category: Poetry

For Youngsters..

—Written By Bharti Goyal, Edited by Sharon Singh I think, we should think… What make nations worth nothing? This question has been haunting me since I began to think. Think! I don’t know, Why...

सरहद पार गए ये परिंदे

सरहद पार गए येपरिंदे जानेअनजाने से, कुछ नादान से यकीन नहींआया उनको की एक दिन मतलूब हासिल होगा कामयाबी की लहर गुंज उठेगी लपेट लेगी अपनेहोशोहवाज़ में| जानेअनजाने, चल पड़ेउस ओर ना थी दुश्मनी,...