Category: Poetry

हार में जीत 

–Written by Bharti Goyal इंसानी फ़ितरत है कि जब किसी चीज़ में हार का सामना करना पड़ता है तो मन में दुःख, क्रोध  और द्वेष के भाव पनपते हैं। ऐसा होना स्वाभाविक भी है, जिस काम...

Indomitable

Written by: Neha Randive     Waking up at the dawn She mowed the lawn In the fields of corn Clothes she worn were torn She bore a baby unborn The elderly did warn...

For Youngsters..

—Written By Bharti Goyal, Edited by Sharon Singh I think, we should think… What make nations worth nothing? This question has been haunting me since I began to think. Think! I don’t know, Why...

सरहद पार गए ये परिंदे

सरहद पार गए येपरिंदे जानेअनजाने से, कुछ नादान से यकीन नहींआया उनको की एक दिन मतलूब हासिल होगा कामयाबी की लहर गुंज उठेगी लपेट लेगी अपनेहोशोहवाज़ में| जानेअनजाने, चल पड़ेउस ओर ना थी दुश्मनी,...